प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साहसिक फैसलों की बदौलत भारत की बदली तस्‍वीर,करनजीत सिंह आहली


सुल्तानपुर लोधी(बॉबी शर्मा)महाभारत के शांतिपर्व में एक श्लोक है-स्वं प्रियं तु परित्यज्य यद् यल्लोकहितं भवेत अर्थात राजा को अपने प्रिय लगने वाले कार्य की बजाय वही कार्य करना चाहिए जिसमें सबका हित हो।केंद्र की मोदी सरकार के गत आठ वर्ष के कार्यो का मूल्यांकन करते समय महाभारत में वर्णित यह श्लोक और इसका भावार्थ स्वाभाविक रूप से जेहन में आता है।दरअसल स्वतंत्रता के बाद समाजवादी नीतियों पर चलते हुए कल्याणकारी राज्य की जिस अवधारणा का विकास हुआ उसमें सरकारी योजनाओं में लोकहित के बजाय लोकलुभावन की नीति को ज्यादा तरजीह दी गई।यह बातें रविवार को भाजपा सुल्तानपुर लोधी के हल्का इंचार्ज करनजीत सिंह आहली ने भाजपा कार्यकर्ताओ की एक बैठक को सम्बोधित करते हुए कही।उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में देश में चारों ओर भ्रष्टाचार की गूंज थी. एक के बाद एक स्कैम सामने आ रहे थे।तब भारतीय जनता पार्टी ने नरेंद्र मोदी को अपना प्रधानमंत्री का चेहरा घोषित किया।गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र दामोदार मोदी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के खिलाफ चुनावी अभियान की कमान संभाली।आखिरकार वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आयी।संसद की दहलीज पर मत्था टेकने वाले नरेंद्र मोदी ने सरकार चलाने का अंदाज ही बदल दिया।एक के बाद एक कई साहसिक फैसले लिये और अपने 8 साल के कार्यकाल में ग्लोबल लीडर के रूप में उभरे।उन्होंने विश्व को कोरोना से लड़ने का मंत्र दिया,तो चीन की चालबाजियों की काट भी दी।करनजीत सिंह आहली ने कहा कि आठ सालों में मोदी ने अपने चुनावी वादे तो निभाये ही,देश और जनता के हित में कई बड़े और दूरगामी फैसले भी लिये।देखते ही देखते मोदी ग्लोबल लीडर बन गये।उन्होंने कहा कि टैक्स सुधार की दिशा में नरेंद्र मोदी की सरकार ने गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स(जीएसटी) को लागू किया।आज देश में टैक्स कलेक्शन के कई रिकॉर्ड स्थापित हो चुके हैं।करनजीत सिंह आहली ने कह कि देश में मुस्लिमों में प्रचलित तीन तलाक की प्रथा को खत्म करने का साहसिक फैसला नरेंद्र मोदी की सरकार ने लिया।मोदी सरकार के कार्यकाल में ही वन नेशन वन राशन कार्ड लागू हुआ।यानी अब आप जहां भी जायेंगे, राशन कार्ड आपके साथ जायेगा।जहां आप रहेंगे,वहीं आपको उस कार्ड पर राशन मिलेगी।प्रवासी भारतीयों के लिए यह फैसला बहुत फायदेमंद साबित हुआ है।करनजीत सिंह आहली बार-बार घुसपैठ करने और भारतीय जवानों पर हमला करने वाले पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर सबक सिखाया।मोदी सरकार ने पाकिस्तान पर एयरस्ट्राइक करके वहां चल रहे आतंकवादी ठिकानों को तबाह कर दिया।पाकिस्तान को अब भी उसका दर्द महसूस होता है।करनजीत सिंह आहली ने कहा कि सैन्यकर्मियों की लंबे अरसे से लंबित मांग को मोदी सरकार ने पूरा किया।वन रैंक वन पेंशन की सैनिकों की मांग को पूरा किया और उसके लिए बजट भी आवंटित किया।उन्होंने कहा कि भारत का शिक्षित और स्किल्ड युवा उद्यमी जोखिम लेने से घबराता नहीं।इसकी वजह यह है कि उसके लिए एक अनुकूल इकोसिस्टम तैयार हो चुका है।स्टार्टअप के मामले में भारत दुनिया का तीसरा बड़ा देश बन चुका है।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने अर्थव्यवस्था के डिजिटाइजेशन का बड़ा अभियान चलाया।आज स्थिति यह है कि दुनिया के विकसित देशों से ज्यादा डिजिटल ट्रांजैक्शन भारत में हो रहे हैं।आंकड़े बताते हैं कि पूरी दुनिया में जितना डिजिटल ट्रांजैक्शन होता है,उसका 40 फीसदी सिर्फ भारत में होता है।उन्होंने दावा किया कि डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने की वजह से रिश्वतखोरी कम हुई है।सरकार और नागरिक के बीच जो बिचौलिये होते थे,उस प्रथा को समाप्त करने के लिए सरकार ने सीधे लाभुकों के खाते में पैसे ट्रांसफर करना शुरू किया।उन्होंने कहा कि रूस-यूक्रेन युद्ध के दौरान जब पूरी दुनिया दो ध्रुव में बंट रही थी,तब नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भारत ने तटस्थ रुख अपनाया।अमेरिका के दबाव के आगे भी बिना झुके हुए रूस और अमेरिका दोनों से दोस्ती कायम रखी।रूस को यूक्रेन से बातचीत के जरिये विवाद को सुलझाने का सुझाव दिया।साथ ही युद्ध रोकने का आह्वान भी किया।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार बिना पाखपात किए देश की

जनता की भलाई के लिए कार्य किए है।इस अवसर पर युवा अध्यक्ष शमशेर सिंह,वरिष्ठ नेता बलविंदर सिंह,पूर्व सरपंच गुरमेज सिंह,कश्मीर सिंह आहली कलां,कुलवंत सिंह,सरबजीत सिंह लड्डू,हरजिंदर खुर्दा,संदीप सिंह सोनू,तार सिंह,बख्शीश सिंह सहित हलके के नौजवान मौजूद थे।


Article Categories:
पंजाब · राजनीति · लेटेस्ट
Likes:
0

Related Posts


    Popular Posts

    Leave a Comment

    Your email address will not be published. Required fields are marked *