दुनिया के पहले 'यूनिकॉर्न कपल' की कहानी, जिसने स्टार्टअप की दुनिया में इतिहास रच दिया, जानिए कब, क्या और कैसे हुआ – TV9 Bharatvarsh

TV9 Bharatvarsh | Edited By:
May 14, 2022 | 1:20 PM
रुचि कालरा (Ruchi Kalra) और आशीष महापात्रा (Asish Mohapatra) दुनिया के ऐसे एकमात्र कपल हैं जिनके अलग-अलग स्टार्टअप हैं और दोनों ही यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो चुके हैं. बिजनेस जगत में इस कपल की चर्चा है. यूनिकॉर्न क्लब में उन स्टार्टअप को शामिल किया जाता है जिसकी वैल्यू 100 करोड़ डॉलर यानी 7700 करोड़ रुपये से अधिक हो जाती है. खास बात है कि दोनों के स्टार्टअप (Startup) को शुरू होने में मात्र एक साल का गैप रहा है. आशीष महापात्रा के स्टार्टअप का नाम है ‘ऑफ बिजनेस’ (OfBusiness). यह 2016 में शुरू हुआ था. वहीं, रुचि कालरा ‘ऑक्सीजो’ (Oxyzo) नाम का स्टार्टअप चलाती हैं और इसकी शुरुआत 2017 में हुई थी.
कौन हैं रुचि कालरा-आशीष महापात्रा, कैसे हुई इनकी मुलाकात, दोनों ने कैसे शुरू किए अपने स्टार्टअप, किस तरह की चुनौतियों का सामना किया और कैसे इसे सफल बनाया, जानिए इन सवालों के जवाब
38 वर्षीय रुचि कालरा का जन्म दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ. रुचि में शुरू से ही लीडरशिप क्वालिटी रही है और वो स्टूडेंट बॉडी में इलेक्टेड मेंबर भी रही हैं. रुचि ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस से MBA और आईआईटी दिल्ली बीटेक किया.
42 वर्षीय आशीष मूलरूप से ओडिशा के रहने वाले हैं. ओडिशा के कटक में जन्में आशीष की शुरुआती पढ़ाई एससीबी मेडिकल पब्लिक स्कूल से हुई. आशीष ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस से MBA और आईआईटी खड़गपुर बीटेक किया. वह काफी धैर्य के साथ काम करने के लिए जाने जाते हैं.
आईआईटी से पढ़ाई के बाद दोनों ने मैकिंजे एंड कंपनी में काम किया. यही दोनों की मुलाकात हुई और दोनों का सपना एक ही था, आंत्रप्रेन्योर बनने का. इस तरह दोनों की पहले दोस्ती हुई, फिर प्यार और फिर शादी.
पहले स्टार्टअप की शुरुआत आशीष ने की. 2016 में ऑफबिजनेस नाम का स्टार्टअप शुरू किया. यह ऐसा प्लेटफॉर्म है जो मैन्यूफैक्चरिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में कच्चा माल और कर्ज की सुविधा मुहैया कराता है.
ठीक एक साल बाद यानी 2017 में रुचि ने अपने पति और अन्य तीन लोगों के साथ ऑक्सीजो नाम का स्टार्टअप शुरू किया. यह छोटे और मध्यम उद्योगों को बिना किसी गारंटी के लोन उपलब्ध करता है. रुचि का स्टार्टअप कम ब्याज दरों पर 72 घंटे के अंदर कर्ज की राशि उपलब्ध कराता है. इसलिए यह काफी पॉपुलर हुआ और पसंद किया गया.
रुचि पहले ही इंश्योरेंस और रिटेल बैंकिंग से जुड़ी रही हैं. वहीं, आशीष महापात्रा मैकिंजे एंड कंपनी में एंगेजमेंट मैनेजर थे. दोनों का अनुभव स्टार्टअप में काम आया. दोनों का मानना है कि अगर प्रैक्टिकल अप्रोच के साथ किसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर काम किया जाए और मौजूदा साधनों को सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो सफलता मिलनी निश्चित है.
एक इंटरव्यू में आशीष ने बताया, यह सब आसान नहीं था. 2016 में जब अपने स्टार्टअप के लिए फंडिंंग जुटा रहा था तो करीब 73 बार रिजेक्शन का सामना किया. आज इसकी चर्चा इसलिए है क्योंकि यह सफल स्टार्टअप है. इसकी सफलता में बेहतर निवेश और उनकी टीम की मेहनत का अहम रोल है.
Channel No. 524
Channel No. 320
Channel No. 307
Channel No. 658

source


Article Categories:
मनोरंजन
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published.