धार्मिक आयोजनों में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होनी चाहिए,रणजीत सिंह खोजेवाल

कपूरथला(राजेश तलवाड़)हैरिटेज शहर कपूरथला में श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर सत्यनारयण मंदिर कमेटी की और से गुरुवार को निकाली गई प्रभातफेरी में पूर्व चेयरमेन व भाजपा के जिला उपप्रधान रणजीत सिंह खोजेवाल ने शामिल होकर भगवान श्री कृष्ण का आशीर्वाद प्राप्त किया।इस अवसर पर खोजेवाल ने कहा कि धार्मिक आयोजनों से समाज में एक संदेश जाता है।इसलिए ऐसे आयोजनों में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचना चाहिए।ऐसे आयोजनों से समाज में आपसी भाईचारा बढ़ता है।खोजेवाल ने कहा हम सभी को अपने व्यस्त जीवन में से कुछ समय धार्मिक और समाज सेवा के कार्यो के लिए निकालना चाहिए।जिससे हम और हमारी आने वाली पीढ़ियों का जीवन सफल हो सके।
उन्होंने कहा इन आयोजनों में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होनी चाहिए।आज हमारा युवा वर्ग गुमराह हो रहा है।वह धार्मिक प्रवृत्ति को भूलता जा रहा है।वैज्ञानिक मोबाइल इंटरनेट की दुनिया में मशगुल हो गया है।अगर हम इस तरह के आयोजन करेंगे तो अवश्य ही युवाओं को सीख मिलेगी।खोजेवाल ने कहा कि धार्मिक आयोजन के द्वारा समाज को संगठित करने में संस्कृति के प्रचार प्रसार में सहयोग मिलता है।ऐसे आयोजनों में समाजजन को बढ़चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए।उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थिति में युवाओं को संस्कारित करने की बहुत आवश्यकता है।उन्होंने कहा कि संसार में जो व्यक्ति सत्य के मार्ग पर चलता है उसकी हमेशा जीत होती है।भगवान कृष्ण के माता-पिता को कंस ने कई प्रकार से प्रताड़ित किया,लेकिन उन्होंने कभी सत्य का मार्ग नहीं छोड़ा।आखिर में भगवान ने अवतार लेकर कंस का वध कर वासुदेव और माता देवकी को कंस के बंधन से मुक्त कराया।उन्होंने कहा कि भगवान कृष्ण को मारने के लिए कंस ने अनेक प्रयास किए।भगवान चाहते तो कंस को क्षण भर में मार कर पूरी कथा समाप्त कर सकते थे,लेकिन भगवान ने ऐसा नहीं किया।क्योंकि वह कंस को सच्चाई दिखाकर उसका वध करना चाहते थे।भगवान ने कंस तो सत्य दिखाकर उसका नाश किया।उन्होंने कहा कि मनुख्य को हमेशा सत्य का रास्ता अपनाना चाहिए,क्योंकि सत्य के मार्ग पर चलने वाले व्यक्ति की हमेशा जीत होती है।


Article Categories:
धर्म · पंजाब · राजनीति
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published.