जम्मू कश्मीर में अब अलगाववाद नहीं-राष्ट्रवाद चलेगा,शाम सुंदर अग्रवाल

कपूरथला( तलवाड़ )आतंकियों की टारगेट किलिंग पर कश्मीरी हिंदुओं का हितैषी दिखने की कोशिश कर रहे डा.फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने अब आतंकी हिंसा का दोष कश्मीर फाइल्स पर मढ़ दिया है। वह अब कह रहे हैं कि इस फिल्म से नफरत फैली।भाजपा के पूर्व जिला प्रधान और प्रदेश कार्यकारणी के सदस्य शाम सुंदर अग्रवाल ने इसका जवाब देते हुए कहा कि कश्मीर फाइल्स ने इन नेताओं को आईना दिखाया और अब सच हजम नहीं कर पा रहे।उन्होंने कहा कि फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को आज कश्मीर फाइल्स से डर लग रहा है।1989-90 में यह फिल्म नहीं थी,तब कश्मीरी हिंदुओं के खिलाफ कश्मीर में नफरत का माहौल कैसे बना था।सच तो यह है कि द कश्मीर फाइल्स फिल्म ने इन्हें आईना दिखाया है।अग्रवाल ने कहा कि अब्दुल्ला,मुफ्ती और इन जैसे लोग ही कश्मीरी हिंदुओं पर अत्याचार के लिए जिम्मेदार हैं।इन्हें 1931,1947 में कश्मीरी हिंदुओं में हुए हमले भले ही याद न हों पर 1986 के अनंतनाग के दंगे और 1989 की हिंसा तो याद होगी।उसके लिए कौन जिम्मेवार था।कश्मीरी पंडितो को राजनीतिक,सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर किसने बनाया।
अग्रवाल ने कहा कि कश्मीर में आतंकियों के समूल नाश और कश्मीर में स्थायी शांति बहाली के मिशन को अंजाम तक पहुंचाने के लिए सरकार ने अब जम्मू कश्मीर के शिक्षण संस्थानों को आतंकी व अलगाववादी तत्वों से पूरी तरह मुक्त कराने का अभियान छेड़ दिया है।विभिन्न कालेजों और विश्वविद्यालयों में शिक्षकों, गैर शिक्षक कर्मियों और छात्रों के सभी गैर पंजीकृत संगठनों की गतिविधियों पर रोक लगाने का फैसला किया गया है।ऐसे संगठनों को समाप्त करने और इनके पदाधिकारियों की पृष्ठभूमि की जांच कर तदनुसार कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है।शाम सुंदर अग्रवाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अब अलगाववाद नहीं-राष्ट्रवाद चलेगा।


Article Categories:
पंजाब · राजनीति
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published.