किरण बेदी को अपनी सोच पर शर्म आनी चाहिएर,गुरशरण कपूर/परमिंदर ढोट

कपूरथला()सिखों के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी करने के लिए भाजपा नेता और पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी की कड़ी निंदा करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयुक्त सचिव गुरशरण सिंह कपूर और सीनियर नेता परमिंदर सिंह ढोट ने कहा कि गलत टिपणी करने से पहले किरण बेदी को इतहास पद लेना चाहिए।

उन्होंने कहा कि इतहास गवाह है की सिखों ने हमेशा मानवता के भले के लिए कार्य किया है,भाजपा नेत्री द्वारा ऐसा बयान देना शर्म की बात है।किरण बेदी ने चेन्नई में अपनी पुस्तक फियरलेस गवर्नेंस के विमोचन कार्यक्रम के दौरान सिखों और सरदार का मजाक उड़ाया था।वह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सभी लोग उनकी आलोचना कर रहे हैं

।उपरोक्त नेताओं ने कहा कि जब मुगल भारत को लूट रहे थे और महिलाओं का अपहरण कर रहे थे,तो सिख उनसे लड़े और हमारी बहनों और बेटियों की रक्षा की।12 बजे मुगलों पर हमला करने का समय था।यह है 12 बजे का इतिहास।उपरोक्त नेताओं ने कहा कि पंजाबी होने पर भी किसी समुदाय का मजाक बनाना शर्म की बात है।उन्होंने कहा किरण बेदी को सिख समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए माफी मांगनी चाहिए,नहीं तो हम समझेंगे कि भाजपा ने अपने नेताओं को यह विशेष कार्य सौंपा हुआ है।उन्होंने कहा कि शर्म आती है भाजपा की घटिया मानसिकता वाले नेताओं पर जो सिखों को सम्मान देने के बजाय उनका मजाक उड़ाते हैं।कपूर ने सिख समुदाय की भावनाओं का अपमान करने और भावनाओं को आहत करने के लिए भाजपा नेता की आलोचना की और कहा कि यह बेहद निंदनीय है कि पंजाब की रहने वाली किरण बेदी ने जानबूझकर सिखों का मजाक उड़ाया।

उपरोक्त नेताओं ने कहा,हमें बीजेपी नेता किरण बेदी पर दया आती है कि उन्हें सिख इतिहास के बारे में जानकारी नहीं है।उन्होंने अपने बयान से सिख समुदाय की भावनाओं को आहत किया है।यह बेहद निंदनीय है।कपूर ने कहा किरण बेदी को अपनी सोच पर शर्म आनी चाहिए।सिखों का इतिहास और भारत के लिए सिखों के योगदान के बारे में पढ़ें।भाजपा घटिया सोच वाले नेताओं का कारखाना है। बीजेपी चुप क्यों है?


Article Categories:
पंजाब · राजनीति · लेटेस्ट
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published.