गुरुओं की पवित्र भूमि को धर्मान्तरण से मुक्ति दिलाये सरकार,जीवन प्रकाश वालिया

मिशनरियों को चुनौती:बजरंग दल ने पंजाब में अवैध धर्मांतरण के खिलाफ खोला मोर्चा,सिख संतो पर हुए 295A के पर्चे रद्द करने की कि मांग

बजरंग दल ने कहा-पंजाब सरकार बनाए धर्मांतरण विरोधी कानून

बाइबल को हमारे पवित्र ग्रंथों से बड़ा बताना बेअदबी नहीं?’

बजरंग दल का सवाल फूँक से कोई ठीक होता तो कोरोना में कई पादरी क्यों मरे?

कपूरथला(राजेश सेठी/हरप्रीत सिंह पुर्वा)विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल ने गुरुवार को पंजाब में हो रहे सामूहिक धर्मांतरण को बंद करने का आह्वान किया।संगठन ने पंजाब सरकार के नाम दीप्ती कमिश्नर के माध्यम से मांग पत्र भेज कर राज्य में धर्मांतरण विरोधी कानून लाने की माँग की है।बजरंग दल ने कहा है कि ईसाई मिशनरियाँ लोगों को पैसे और अन्य सुविधाओं के बदले धर्मांतरण का लालच दे रही हैं।बजरंग दल ने पंजाब को गुरुओं की पवित्र भूमि बताते हुए इसे धर्मान्तरण से मुक्ति दिलाने का आह्वान किया है।गुरुवार को बजरंग दल के जिला प्रधान जीवन प्रकाश वालिया के नेतृत्व में बजरंग दल के कार्यकर्ताओ ने पंजाब में बढ़ रहे धर्मांतरण के मामलो पर चिंता जताते हुए डिप्टी कमिश्नर से मुलाकात कर पंजाब के राजयपाल व मुख्यमंत्री के नाम एक मांगपत्र दिया।जिस में मांग की गई की पंजाब में धर्म परिवर्तन के खिलाफ सख्त कानून बनाया जाए और अमृतसर के (पट्टी)में सिख संतो पर हुए 295A के पर्चे रद्द किये जाए।इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए जीवन प्रकाश वालिया ने कहा कि अकाल तख्त जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह द्वारा राज्य में चर्चों द्वारा कराए जा रहे अवैध धर्मांतरण के खिलाफ उठाई गई आवाज का बजरंग दल जोरदार स्वागत करता है।इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि पंजाब में सामूहिक धर्मांतरण की घटनाओं को रोकने के लिए विहिप हरसंभव मदद करेगी।वालिया ने कहा कि पंजाब का धर्मरक्षा के लिए संघर्ष और बलिदान का एक लंबा इतिहास है।उन्होंने बताया कि धर्मांतरण करने वाली मिशनरियाँ इन बलिदानों को ही नहीं,बल्कि गुरुओं की शिक्षाओं को भी अपमानित करने का दुस्साहस कर रही हैं।वालिया ने यह भी कहा कि पंजाब में सक्रिय ईसाई मिशनरियाँ वहाँ के लोगों का धर्म परिवर्तन करने के लिए बल,धोखाधड़ी और लालच का इस्तेमाल कर रही हैं।उन्होंने कहा कि यदि सच में ईसाई मिशनरियाँ चंगाई सभा से लोगों को चंगा(निरोगी) करती तो उनके पादरी बीमार होने पर अस्पताल में क्यों भर्ती होते हैं?कई ईसाई धर्मगुरुओं/पादरियों ने कोरोना-19 महामारी से ग्रसित हो कर अपनी जान गवाँ दी थी।मदर टेरेसा का कई माह तक इलाज करवाने के बाद भी वो उन्हें बचा नहीं पाए।उन्होंने कहा कि जब चंगाई सभाएँ अपनों को ही नहीं ठीक कर पाईं,तो ये पंजाब के भोले-भाले लोगों को मूर्ख क्यों बना रही हैं?साथ ही मिशनरियों को चुनौती दी गई है कि वे पंजाब के अस्पतालों में भर्ती गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों को स्वस्थ करके अपनी शक्ति को साबित करें।वालिया ने पंजाब सरकार से धर्मान्तरण विरोधी क़ानून लागू करने की भी माँग की है।मिशनरियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि वे धर्मांतरण की हरकतों को तुरंत बंद करें।साथ ही पूछा है कि बाइबल को हमारे पवित्र ग्रंथों से बड़ा बताकर क्या मिशनरियाँ सिखों और हिंदुओं के धर्मग्रंथों की बेअदबी नहीं कर रहे?वालिया ने कहा कि अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने जो आवाज उठाई है बजरंग दल उसका स्वागत करता है।धर्मांतरण को रोकने के इस अभियान में बजरंग दल हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन देता है।चर्च द्वारा किया जा रहा धर्मांतरण संपूर्ण पंजाब की पावन धरती के लिए एक अभिशाप है।इसका मुंह तोड़ जवाब अवश्य दिया जाएगा।बजरंग दल इस नापाक षड्यंत्र को पूर्ण रूप से समाप्त कर पंजाब को धर्मांतरण मुक्त प्रदेश बनाने का संकल्प लेता है।वालिया ने आगे कहा कि पंजाब का इतिहास धर्म की रक्षा के लिए संघर्ष और बलिदान का इतिहास है।पूज्य गुरुओं ने धर्म की रक्षा के लिए न केवल प्रेरणा दी है अपितु,अद्भुत संघर्ष भी किए।गुरु पुत्रों के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता।उन्होंने कहा कि पंजाब का सिख और हिंदू समाज चर्च की इस बेशर्मी और चरित्र हीनता को बर्दाश्त नहीं कर सकता।बजरंग दल को विश्वास है कि धर्मांतरण के विरोध में श्री अकाल तख्त की इस पहल के बाद अब पंजाब में धर्मांतरण पर पूर्ण विराम लगेगा।बजरंग दल पंजाब सरकार से भी अपील करता है कि वह पंजाबी समाज की भावनाओं तथा गुरुओं की परंपराओं का सम्मान करते हुए धर्मांतरण विरोधी कानून बनाए।हम मिशनरियों को चेतावनी देते हैं कि वे धर्मांतरण की गतिविधियों को अविलंब बंद करें अन्यथा उन्हें पंजाब से अपना बोरिया बिस्तर लपेटने पर मजबूर होना पड़ेगा।इस अवसर पर बजरंग दल के जिला उपप्रधान आनंद यादव,जिला उपप्रधान सवामी प्रसाद शर्मा,बजरंग दल नेता इशांत मेहरा,महिंदर दास,हैप्पी अरोड़ा,रिंकू छाबड़ा,विजय यादव,टिंकू बत्रा,राजीव टंडन,लकबीर सिंह चिम्मा आदि उपस्थित थे।


Article Categories:
लेटेस्ट
Likes:
0

Leave a Comment

Your email address will not be published.